5.8.17

किस्मत चमकाने का आसान उपाय..




रविवार को इस बेहद आसान उपाय व सूर्य मंत्र से सूर्य पूजा किस्मत का धनी बनाकर सफल बनाने वाली मानी गई है
    जीवन में कड़ी मेहनत के बावजूद अगर करीब पहुंच कर भी लक्ष्य या सफलता हाथ से फिसल जाए, तो अक्सर इसे नसीब की कमजोरी के रूप में भी आंका जाता है। इसी तरह सफलता की कवायद में शरीर में रोग, कमजोरी या शत्रुओं का हावी होना भी भाग्य बाधा के तौर पर देखा जाता है और बचने के लिए तरह-तरह के उपाय भी किए जाते हैं।
इसी कड़ी में धार्मिक उपायों के तहत सूर्य पूजा भाग्य, रोग व शत्रु बाधा को दूर करने वाली बताई गई है। खासतौर पर रविवार को सूर्य पूजा के कुछ खास उपाय इन समस्याओं को दूर करने में बहुत असरदार माने गए हैं।
ऐसा ही एक उपाय है - सूर्य देवता के सामने चार तरह के तेल के अलग-अलग दीप जला विशेष मंत्र का स्मरण। अगर आप भी किस्मत का धनी व सेहतमंद बन सफल होना चाहते हैं, तो जानिए, कौन-सा है ये मंत्र, चार तेल के दीप और उनके शुभ फल -
- सुबह स्नान के बाद सूर्यदेव की प्रतिमा की गंध, फूल, नैवैद्य लगाकर धूप व दीप से पंचोपचार पूजा करें।
- इस पूजा में चार तरह के तेल के दीप लगाएं। जिनके शुभ प्रभाव ऐसे होते हैं -
महुए का तेल - सौभाग्य प्राप्ति।
घी का दीप - आंखों की बीमारी नहीं होती।
तिल के तेल का दीप - संकट व पीड़ा नाशक
कोई भी कडुवा तेल - शत्रु पराजित होते हैं।
- दीप जलाकर नीचे लिखे सूर्य मंत्र का स्मरण करें -
नमो धात्रे विधात्रे च अर्यम्णे वरुणाय च।
पूष्णे भगाय मित्राय पर्जन्यायांशवे नम:।।

- पूजा व मंत्र ध्यान के बाद सूर्य आरती करें व सुख-सौभाग्य पाने व शत्रु-रोग से छुटकारे की कामना करें।

कोई टिप्पणी नहीं: