13.10.16

कुछ ही रोज मे करोड़ पति बनाने वाले टोटके और उपाय




बहुत सारा धन की हर इंसान की चाहत होती है। लेकिन यह धन आपको सिर्फ चाहने भर से नहीं मिल जाता, उसके लिए कडी मेहनत करनी होती है। पर कई बार मेहनत करने के बाद भी फल नहीं मिलता। आज जैसे-जैसे आधुनिक सुविधाओं का विकास हो रहा है ठीक वैसी पैसों की आवश्यकता भी बढ़ती जा रही है। अगर आप भी पैसों की तंगी से त्रस्त हैं तो कुछ आसान टिप्स अपना कर पाएं मां लक्ष्मी की कृपा हो सकती है...
*गुरूवार को केले के पेड़ में दूध, गंगाजल, शहद, केसर, चने की दाल, काले तिल को स्टील या चांदी के बर्तन में डालकर अर्पित करें व चमेली के तेल का दीपक जलाएं। शनिवार को पीपल के वृक्ष में काले तिल, कच्चा दूध गंगाजल, शहद, गुड़ को स्टील या चांदी के बर्तन में डालकर अर्पित करें व सरसों के तेल का दीपक जलाएं।माना जाता है की लाल धागे में सातमुखी रुद्राक्ष गले में धारण करने से धन की प्राप्ति होती है। एक और उपाय जो काफी पॉपुलर है उसमें सवा पांच किलो आटा एवं सवा किलो गुड़ लें। दोनों का मिश्रण कर रोटियां बना लें। गुरुवार के दिन सायंकाल गाय को खिलाएं। तीन गुरुवार तक यह कार्य करने से गरीबी खतम होती है।
*


घर में तैयार भोजन की प्रथम रोटी गाय को व अंतिम रोटी कुत्ते को नित्य नियम से खिलाएं। घर के केन्द्रीय भाग नाभि में तुलसी का पौधा रखें। सोमवार को शाम के समय बिल्व पत्र के वृक्ष में कच्चा दूध, शहद, पताशा, गुलाब के पुष्प, केसर, काले तिल, अर्पित करें व घी का दीपक जलाएं।
*सुबह उठते ही तांबे के लोटे में जल लेकर घर के मुख्य दरवाज़े पर डालें। कोई भी दान घर के मुख्य दरवाज़े के बाहर खड़े होकर ही दें। आप जब कभी भी बाहर से घर आये तो खाली हाथ न लौटें, कुछ न कुछ चीज़ लेकर लौटें।
शुक्रवार के दिन किसी सुहागिन स्त्री को लाल वस्त्र या सुहाग सामग्री दान करने से धन लक्ष्मी के आगमन का मार्ग प्रशस्त होता है। यदि शुक्रवार के दिन कोर्इ विवाहित स्त्री आपको चाय-पानी पर आमंत्रित करे तो उसके आग्रह को न ठुकराएं-चाहे आप कितने ही अधिक व्यस्त क्यों न हों। यह धन के आगमन का निशान है।

*भगवती लक्ष्मी के 18 पुत्र माने जाते हैं। शुक्रवार के दिन इनके नाम के आरंभ में ॐ और अंत में 'नम:' लगाकर जप करने से मनचाहे धन की प्राप्ति होती है। जैसे - 1. ॐ देवसखाय नम:, 2. ॐ चिक्लीताय नम:, 3. ॐ आनंदाय नम:, 4. ॐ कर्दमाय नम:, 5. ॐ श्रीप्रदाय नम:, 6. ॐ जातवेदाय नम:, 7. ॐ अनुरागाय नम:, 8. ॐ संवादाय नम:, 9. ॐ विजयाय नम:, 10. ॐ वल्लभाय नम:11. ॐ मदाय नम:, 12. ॐ हर्षाय नम:, 13. ॐ बलाय नम:, 14. ॐ तेजसे नम:, 15. ॐ दमकाय नम:, 16. ॐ सलिलाय नम:, 17. ॐ गुग्गुलाय नम:, 18. ॐ कुरूंटकाय नम:
*सप्ताह में एक बार समुद्री नमक से पोछा लगाने से घर में शांति रहती है। घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होकर घर में झगड़े भी नहीं होते हैं तथा लक्ष्मी का वास स्थायी रहता है।
*लक्ष्मी जी को सफेद गुंजा बहुत पसन्द हैं इस गुंजा को श्री लक्ष्मी जी स्त्रोत्र से 2-5 बार अभिमंत्रित करें। गुंजा फिर पैसे के स्थान पर रखे। (गुंजा उडद की साबुत दाल के बराबर से थोडा सा बडा होता है लोग इसे लडाई की जड के नाम से जानते है। यह सामान्यतः आधी लाल- आधी काले रंग की होती है। इसके लाल काले दाने यदि किसी के घर मै डाल दिये जाये तो जब तक यह दाने उसके घर से ना निकले तब तक लडाई होती रहती ही है। सफेद रंग के दाने हल्का किनारे से काले होते है यह ही लक्ष्मी पुजन मे काम आते है।
*हर व्यक्ति को नारी जाति का सम्मान कर बहन-बेटियों की यथासंभव मदद करना चाहिए क्योंकि इनके लिए किया गया कोई भी कार्य आपके पुण्यों में वृद्धि करता है तथा दरिद्रता दूर करने में सहायक होता है। साथ ही अन्य लोगों को भी इस कार्य के लिए प्रेरित करना चाहिए।
*भोजन सदैव पूर्व या उत्तर की ओर मुख कर के करना चाहिए। संभव हो तो रसोईघर में ही बैठकर भोजन करें इससे राहु शांत होता है। जूते पहने हुए कभी भोजन नहीं करना चाहिए।
*घर में बार-बार धन हानि हो रही हो तों वीरवार को घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़क कर गुलाल पर शुद्ध घी का दोमुखी (दो मुख वाला) दीपक जलाना चाहिए। दीपक जलाते समय मन ही मन यह कामना करनी चाहिए  की `भविष्य में घर में धन हानि का सामना न करना पड़े´।  

जब दीपक शांत हो जाए तो उसे बहते हुए पानी में बहा देना चाहिए।

*अगर आप किसी काम के लिए बाहर जा रहे हो तो दिन के हिसाब से इन टोटकों को अपनाएं. आपका काम बन जाएगा. रविवार को घर से निकलने से पहले पान का पत्ता अपने पास रख लें. सोमवार को घर से निकलते वक्त आइने में अपना चेहरा देख लें. मंगलवार को कोई मिठाई खाकर घर से निकलें.बुधवार को बाहर निकलते समय हरे धनिये के पत्ते को खाकर निकलना शुभ होता है. गुरूवार को घर से जाते समय सरसों के कुछ दाने को मुंह में डाल लें. शुक्रवार को दही खाकर निकलने से सबकुछ सही रहेगा. शनिवार को अदरक और घी खाकर जाना आपको शुभ फल देता है
*जिस घर से गाय के लिए भोजन की पहली रोटी या प्रथम हिस्सा जाता है वहाँ भी लक्ष्मी को अपना निवास करना पड़ता है। घर के वृद्धजनों की स्थिति व उनका मान-सम्मान भी आपकी आर्थिक स्थिति को काफी प्रभावित करते हैं। यदि आपके घर में वृद्धों का सम्मान होता है तो निश्चित रूप से आपके घर में समृद्धि का वास होगा, अन्यथा इसके ठीक विपरीत स्थिति होगी।
*जिन व्यक्तियों को लाख प्रयत्न करने पर भी स्वयं का मकान न बन पा रहा हो, वे इस टोटके को अपनाएं। प्रत्येक शुक्रवार को नियम से किसी भूखे को भोजन कराएं और रविवार के दिन गाय को गुड़ खिलाएं। ऐसा नियमित करने से अपनी अचल सम्पति बनेगी या पैतृक सम्पति प्राप्त होगी।क खुले डिब्बे में न रखें क्योंकि इससे घर की सकारात्मक ऊर्जा प्रभावित होती है। शुक्रवार को सुहागन औरत को श्रृंगार की सामग्री का दान करें। शनिवार के दिन गेहूं को चक्की से पिसवायें। दीप हमेशा गेहूं की ढ़ेरी पर रखकर प्रज्जवलित करें।
अपने घर में शेष नाग पर शयन मुद्रा में विष्णु तथा उनके चरण स्पर्श करती लक्ष्मी का चित्र लगाएं। पूजा करते समय यदि गुरूदेव, ज्येष्ठ व्यक्ति या पूज्य व्यक्ति आ जाए तो, उनको उठ प्रणाम कर उनकी आज्ञा से शेष कर्म को समाप्त करें।
*अपने घर में नियमित रूप से पूजा करते समय जो दीपक जलाते हैं, उसमें रूर्इ की बत्ती के स्थान पर कलावे का प्रयोग करें क्योंकि मां लक्ष्मी को लाल रंग अधिक प्रिय है। इससे धन का आगमन होगा।
*घर में देवी-देवताओं पर चढ़ाये गये फूल या हार के सूख जाने पर भी उन्हें घर में रखना अलाभकारी होता है। अपने घर में पवित्र नदियों का जल संग्रह कर के रखना चाहिए। इसे घर के ईशान कोण में रखने से अधिक लाभ होता है।

एक टिप्पणी भेजें